Shimla Kalka Toy Train

अगर आप छुट्टियों में हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की हसीन वादियों का मज़ा लेना चाहते हैं तो कालका (Kalka) से (Shimla) के बीच में चलने वाली कालका शिमला टॉयट्रेन (Kalka Shimla Toy Train) आपको वो सभी नज़ारे दिखने को तैयार है शायद जिनकी आप कभी कल्पना करते होंगे।

कालका शिमला टॉयट्रेन (Kalka Shimla Toy Train) का ट्रैक भारत में चल रही बाकि ट्रैन के मुकाबले छोटा / पतला है जिसे मीटर गेज ट्रैक (Meter Gauge Track) कहा जाता है। कालका शिमला टॉयट्रेन (Kalka Shimla Toy Train) को अंग्रेजी सरकार द्वारा 1903 में शुरू किया गया था।

02/जुलाई/2008 को  यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज समिति ने कालका शिमला टॉयट्रेन (Kalka Shimla Toy Train) को ‘वर्ल्ड हेरिटेज लिस्ट’ में शामिल करने का निर्णय लिया और 09/जुलाई/2008 में इसे आधिकारिक तौर पर वर्ल्ड हेरिटेज लिस्ट में घोषित कर दिया। 

कालका शिमला टॉयट्रेन (Kalka Shimla Toy Train) के सफर में आते हैं – हरे-भरे पेड़-पौधों से भरी हुई घाटियां, पहाड़ों को चीरती हुई सुरंगें, झरनो और ऊँचे देवदार के पेड़ों से भरे जंगल, प्रकृति की अपार सुंदरता को दर्शाता है। कालका शिमला टॉयट्रेन (Kalka Shimla Toy Train) का सफर आपके मन और आँखों को शुद्ध और पेड़ों से गुजरने वाली हवाओं के झोंके आपको तरो ताज़ा कर देंगें। साथ ही पहाड़ों के तीखे किनारों से तैर कर गुजरने वाली ये टॉयट्रेन कुछ अद्भुद नज़ारों का दृश्य पैदा करती है, जो आपके मन को लुभाने का काम करती हैं। कालका से शिमला के बीच में टॉयट्रेन से लगभग 96 किलोमीटर का सफर है जिसमे 100 से अधिक सुरंगे और 87 पुल आते हैं, जो अंग्रेजों के समय की अद्बुध इंजीनियरिंग का उदाहरण हैं। 

कालका से शिमला के बीच में मुख्यता 3 तरह की टॉयट्रेन चलती हैं, जिनके नाम है –  

  1. रेल मोटर कार टॉयट्रेन – Rail Motor Car Toy Train
  2. शिवालिक डीलक्स टॉयट्रेन – Shivalik Deluxe Toy Train
  3. हिमालयन क़्वीन टॉयट्रेन – Himalayan Queen Toy Train
Rail Motor car Shimla Kalka Toy Train
Rail Motor car Shimla Kalka Toy Train

रेल मोटर कार टॉयट्रेन (Rail Motor Car Toy Train) एक मिनी बस के जैसी होती है, जिसमे सिर्फ एक ही कोच होता है। रेल मोटर कार टॉयट्रेन को एक छोटे से इंजन से ड्राइव किया जाता है। रेल मोटर कार में यात्रिओं के बैठने के लिए बढ़िया आरामदायक सीटें, मोबाइल और लैपटॉप की चार्जिंग के लिए बिजली के पोर्ट, साथ में पुरे कोच को एयर कंडीशनिंग की सुविधा भी दी गयी है, जो सवारिओं को थकान का एहसास नहीं होने देता। 

इस एक ही कोच वाली रेल मोटर कार टॉयट्रेन का फायदा ये है की इसको एक कोटे इंजन की सहायता से चलाया जाता है जिसे कम सवारिओं के लिए इस्तेमाल किया जाता है। रेल मोटर कार टॉयट्रेन में एक समय पर 14 से 18 यात्रियों को ले जाने की सुविधा है। जिनके लिए खाने का प्रबंध भी होता है। 

रेल मोटर कार टॉयट्रेन रिश्ते में बड़ोग नाम के एक स्टेशन पर 20 मिनट के लिए रूकती है। जहाँ स्टेशन पर आपको खाने पिने का ज़रूरी सामान उचित दाम पर मिल जाता है। यहाँ आप को 50 रूपए में खाने की प्लेट मिल जाती है जिस से आपका पेट बिलकुल भर जाएगा। 

साथ ही इस स्टेशन पर आपके मन को मोह लेने वाले दृश्य भी मिल जाएंगे – तो अपना कैमरा निकाले और फोटोज खींचने का लुत्फ़ उठायें !!

Barog Station 02
Barog Station - Kalka Shimla Toy Train
Barog Station 01
Barog Station - Kalka Shimla Toy Train

शिवालिक डीलक्स टॉयट्रेन - Shivalik Deluxe Toy Train

Shivalik Deluxe Toy Train

शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस (Shivalik Deluxe Express) एक साथ 120 यात्रिओं के बैठने की क्षमता वाली एक लक्ज़री ट्रैन है, जिसमे कोच के अंदर लकड़ी का बहुत सुन्दर काम किया गया है, फ्लोर पर हर जगह – हर कोने तक कालीन बिछाई गयी है, मनोरम दृश्यों को देखने के लिए बड़ी-बड़ी कांच की खिड़कियां हैं जिनको खोला भी जा सकता है और साथ ही इनको कवर करने के लिए परदे भी लगाए गए हैं। ट्रैन के हर कम्पार्टमेंट / डिब्बे में शौचालय की भी भी उचित व्यवस्थ्ता की गयी है। इन सब सुविधाओं के साथ आपको आराम प्रदान करने के लिए बेहतरीन कुशन वाली सीटें दी गयी हैं और खाना खाने के लिए फोल्डेबल टेबल का भी प्रावधान किया गया है।

यात्रिओं को रास्ते में चाय या कॉफ़ी तैयार करने के लिए मिनरल वाटर बोतल और थर्मस दी जाती है। रास्ते में खाना खाते हुए कांच की चौड़ी खिड़कियों से बाहर के मनोरम दृश्यों को देखने का बहुत ही ज़्यादा मज़ा आता है। खाने में आपको ब्राउन ब्रेड के 2 भाग, 1 वेज कटलेट, ब्रेड जैम, ब्रेड बटर और केचप पाउच दिया जाता है। 

वैसे तो इस यात्रा के दौरान रास्ते में कई स्टेशन हैं, लेकिन शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस ट्रैन के रुकने का कोई निर्धारित स्टेशन नहीं है। फिर भी ज़्यादा तर ये भी बड़ोग नाम के स्टेशन पर ही रूकती है। यहाँ छोटी छोटी दुकानों द्वारा खाने पिने की अच्छी सुविधा प्रदान की जाती है। साथ ही फोटोज खींचने के लिए नज़ारे भी अच्छे हैं।

शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस टॉयट्रेन (Shivalik Deluxe Express Toy Train) में कालका से शिमला तक पहुंचने में लगभग 5 घंटे लगाती है जब की बाकी ट्रैन 6 घंटे लगाती हैं।

हिमालयन क़्वीन टॉयट्रेन - Himalayan Queen Toy Train

Himalayan Queen Toy Train

हिमालयन क़्वीन टॉयट्रेन (Himalayan Queen Toy Train) हफ्ते के सातों दिन चलती है, जिसकी स्पीड 18 किलोमीटर/घंटे की रहती है। इस ट्रैन में खाने पिने की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है लेकिन यह ट्रैन रास्ते में लगभग 9 स्टेशनों पर रुकती है जहाँ आप को खाने पिने के बहुत से विकल्प पर्याप्त मात्रा में और उचित दाम पर मिल जाता है।

ट्रैन के रुकने वाले 9 स्टशनों के नाम इस प्रकार हैं – बरोग, धरमपुर, जुतोग, सोलन, समर हिल, कुमारहट्टी, तारादेवी, कंडाघाट और सालोगरा। सभी स्टेशनो पर आपको प्रकृति के अद्भुद नज़ारे देखने को मिलेंगे। ट्रैन हर स्टेशन पर लगभग 5-10 मिनट तक रूकती है जहाँ आपको फोटोज खींचने का भी बहुत समय मिल जाता है।

# हालाँकि इस ट्रैन में आपको कुछ असुविधाओं का सामना भी करना पद सकता है जैसे की शौचालय के हालत (अस्वछ शौचालय), बैठने के लिए हार्ड कुर्सियां और सामान रखने के लिए अपर्याप्त जगह। 

कालका शिमला टॉयट्रेन का इतिहास - History of Kalka Shimla Toy Train

जैसे की हमने पहले ही बताया है कि कालका शिमला टॉयट्रेन का ट्रैक भारत में चल रही बाकि ट्रैन के मुकाबले छोटा / पतला है जिसे मीटर गेज ट्रैक (Meter Gauge Track) कहा जाता है।

कालका शिमला टॉयट्रेन को बनाने का मुख्य कारण ये था की ब्रिटिश सरकार ने शिमला को आधिकारिक तौर पर ब्रिटिश साम्राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया गया था।  तो उस समय शिमला पहुँचने के लिए किसी भी प्रकार के साधनों का अभाव था साथ ही वहां पहुँचने के लिए कोई अच्छी कनेक्टिविटी भी नहीं थी। जिस से रास्ता काफी कठिन, खतरनाक और जोखिमों से भरा हुआ था।

इसलिए, शिमला आसानी से पहुँचने के लिए अंग्रेजों ने नवंबर 1903 में कालका शिमला नैरो-गेज ट्रैक ट्रेन को शुरू किया। जिसमे लॉर्ड कर्जन ने पहली ट्रेन की सवारी का आनंद लिया और तब से ट्रेन हर रोज चल रही है। हाँ अगर कोई तकनिकी खराबी या रेगुलर मेंटेनेंस के लिए कई बार इसका रूट रोका जाता है।

कालका शिमला टॉयट्रेन की समय सारिणी - Timings of Kalka Shimla Toy Train

कालका से शिमला 
  1. रेल मोटर कार – 72451 : कालका से सुबह 5:10 बजे शुरू होती है और 9:50 बजे अपने गंतव्य पर पहुंचती है।
  2. शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस – 52451 : कालका से सुबह 5:20 बजे शुरू होती है और सुबह 10 बजे अपने गंतव्य पर पहुंचती है।
  3. हिमालयन क्वीन – 52455 : दोपहर 12:10 बजे कालका से निकलती है और शाम 5:30 बजे अपने गंतव्य पर पहुंचती है।
शिमला से कालका 
  1. रेल मोटर कार – 72452 : शिमला से शाम 4:25 बजे प्रस्थान करती है और 9:35 बजे कालका पहुंचती है।
  2. शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस – 52452 : शिमला से शाम 5:50 बजे प्रस्थान करती है और रात 10:30 बजे कालका पहुंचती है।
  3. हिमालयन क्वीन – 52456 : शिमला से सुबह 10:40 बजे प्रस्थान करती है और शाम 4:10 बजे कालका पहुंचती है।

कालका शिमला टॉयट्रेन का किराया - Kalka Shimla Toy Train Travel Fare

  • रेल मोटर कार : वयस्कों (Adults) के लिए 320 रुपये और बच्चों (Children) के लिए 160 रुपये का शुल्क लेती है।
  • शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस : वयस्कों (Adults) के लिए 510 रुपये और बच्चों (Children) के लिए 255 रुपये का शुल्क लेती है।
  • हिमालयन क्वीन : वयस्कों (Adults) के लिए 470 रुपये और बच्चों (Children) के लिए 235 रुपये का शुल्क लेती है।

कालका कैसे पहुंचे - How to Reach Kalka?

चंडीगढ़ और दिल्ली दोनों कालका पहुंचने के कई रास्ते प्रदान करते हैं। परिवहन के मुख्य 3 साधन इस प्रकार हैं:

Train ( ट्रेन ) : दिल्ली से कालका के लिए कई ट्रेनें उपलब्ध हैं। हालांकि, सबसे आरामदायक ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस है, जो सुबह जल्दी शुरू होती है। अपने गंतव्य तक पहुंचने में लगभग 4 घंटे लगते हैं और कुल मिलाकर 269 किमी की दूरी तय करते हैं।

Road ( सड़क ) : दिल्ली और चंडीगढ़ से कालका पहुंचने के लिए कोई निजी कार या टैक्सी किराए पर ले सकता है। इसके अलावा, आप वोल्वो बसों के माध्यम से यात्रा करने का विकल्प भी चुन सकते हैं, जो दिल्ली से संचालित होती हैं और आमतौर पर अग्रिम रूप से ऑनलाइन बुक की जाती हैं।

Air ( वायु ) : दिल्ली या चंडीगढ़ से कालका पहुंचने के लिए चंडीगढ़ हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है। इसलिए, यदि आपका समय समाप्त हो रहा है, तो दिल्ली से उड़ान भरना बेहतर है। वहां पहुंचने के बाद, आप स्थानीय टैक्सी या कैब की तलाश कर सकते हैं।

Frequently Asked Questions

Which is the best toy train from Kalka to Shimla?

कालका से शिमला जाने वाली सबसे अच्छी और बढ़िया टॉय ट्रैन शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस (Shivalik Deluxe Express) है जिसमे कोच के अंदर लकड़ी का बहुत सुन्दर काम किया गया है, फ्लोर पर हर जगह – हर कोने तक कालीन बिछाई गयी है, मनोरम दृश्यों को देखने के लिए बड़ी-बड़ी कांच की खिड़कियां हैं जिनको खोला भी जा सकता है और साथ ही इनको कवर करने के लिए परदे भी लगाए गए हैं। ट्रैन के हर कम्पार्टमेंट / डिब्बे में शौचालय की भी भी उचित व्यवस्थ्ता की गयी है। इन सब सुविधाओं के साथ आपको आराम प्रदान करने के लिए बेहतरीन कुशन वाली सीटें दी गयी हैं और खाना खाने के लिए फोल्डेबल टेबल का भी प्रावधान किया गया है।

Is food tea coffee available from toy train Kalka to Shimla?

जी हाँ, रेल मोटर कार टॉयट्रेन (Rail Motor Car Toy Train) और शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस टॉयट्रेन (Shivalik Deluxe Express Toy Train) में बढ़िया क़्वालिटी के खाने का प्रावधान होता है। जिसमे आपको ब्राउन ब्रेड के 2 भाग, 1 वेज कटलेट, ब्रेड जैम, ब्रेड बटर और केचप पाउच दिया जाता है। साथ ही चाय या कॉफ़ी तैयार करने के लिए मिनरल वाटर बोतल और थर्मस दी जाती है। रास्ते में खाना खाते हुए कांच की चौड़ी खिड़कियों से बाहर के मनोरम दृश्यों को देखने का बहुत ही ज़्यादा मज़ा आता है। लेकिन  इस रूट पर चलने वाली एक और ट्रैन हिमालयन क़्वीन (Himalayan Queen) में खाने का कोई प्रबन्ध नहीं है। 

Which side of the seat has the best and more scenic view in Kalka Shimla toy train?

जब भी आप कालका से शिमला की यात्रा कर रहे हों तो बाईं तरफ (left side) और शिमला से कालका जाते समय दाईं तरफ (Right side) बैठना सुनिश्चित करें। जिस से आपको अपनी यात्रा के समय सर्वोत्तम दृश्यों को देखने का मौका मिलेगा। 

How To Reach Kalka?

चंडीगढ़ और दिल्ली दोनों कालका पहुंचने के कई रास्ते प्रदान करते हैं। परिवहन के मुख्य 3 साधन इस प्रकार हैं:

Train ( ट्रेन ) : दिल्ली से कालका के लिए कई ट्रेनें उपलब्ध हैं। हालांकि, सबसे आरामदायक ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस है, जो सुबह जल्दी शुरू होती है। अपने गंतव्य तक पहुंचने में लगभग 4 घंटे लगते हैं और कुल मिलाकर 269 किमी की दूरी तय करते हैं।

Road ( सड़क ) : दिल्ली और चंडीगढ़ से कालका पहुंचने के लिए कोई निजी कार या टैक्सी किराए पर ले सकता है। इसके अलावा, आप वोल्वो बसों के माध्यम से यात्रा करने का विकल्प भी चुन सकते हैं, जो दिल्ली से संचालित होती हैं और आमतौर पर अग्रिम रूप से ऑनलाइन बुक की जाती हैं।

Air ( वायु ) : दिल्ली या चंडीगढ़ से कालका पहुंचने के लिए चंडीगढ़ हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है। इसलिए, यदि आपका समय समाप्त हो रहा है, तो दिल्ली से उड़ान भरना बेहतर है। वहां पहुंचने के बाद, आप स्थानीय टैक्सी या कैब की तलाश कर सकते हैं।

What is the fare by Kalka to Shimla toy train?

कालका से शिमला को जाते हुए –  
  1. रेल मोटर कार – 72451 : कालका से सुबह 5:10 बजे शुरू होती है और 9:50 बजे अपने गंतव्य पर पहुंचती है।
  2. शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस – 52451 : कालका से सुबह 5:20 बजे शुरू होती है और सुबह 10 बजे अपने गंतव्य पर पहुंचती है।
  3. हिमालयन क्वीन – 52455 : दोपहर 12:10 बजे कालका से निकलती है और शाम 5:30 बजे अपने गंतव्य पर पहुंचती है।
शिमला से कालका को जाते हुए –  
  1. रेल मोटर कार – 72452 : शिमला से शाम 4:25 बजे प्रस्थान करती है और 9:35 बजे कालका पहुंचती है।
  2. शिवालिक डीलक्स एक्सप्रेस – 52452 : शिमला से शाम 5:50 बजे प्रस्थान करती है और रात 10:30 बजे कालका पहुंचती है।
  3. हिमालयन क्वीन – 52456 : शिमला से सुबह 10:40 बजे प्रस्थान करती है और शाम 4:10 बजे कालका पहुंचती है।

When was the Kalka Shimla Railway formed?

ब्रिटिश राज में शिमला आसानी से पहुँचने के लिए अंग्रेजों ने नवंबर 1903 में कालका शिमला नैरो-गेज ट्रैक ट्रेन को शुरू किया। जिसमे लॉर्ड कर्जन ने पहली ट्रेन की सवारी का आनंद लिया और तब से ट्रेन हर रोज चल रही है। हाँ अगर कोई तकनिकी खराबी या रेगुलर मेंटेनेंस के लिए कई बार इसका रूट रोका जाता है।

कालका शिमला टॉयट्रेन को बनाने का मुख्य कारण ये था की ब्रिटिश सरकार ने शिमला को आधिकारिक तौर पर ब्रिटिश साम्राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया गया था।  तो उस समय शिमला पहुँचने के लिए किसी भी प्रकार के साधनों का अभाव था साथ ही वहां पहुँचने के लिए कोई अच्छी कनेक्टिविटी भी नहीं थी। जिस से रास्ता काफी कठिन, खतरनाक और जोखिमों से भरा हुआ था।

 

1 thought on “Shimla Kalka Toy Train”

  1. Pingback: WeHimachali - Places To Visit In Dharamshala HP

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *